Google SERP kya hai और Google SERP कैसे काम करता है ? Google SERP में rank कैसे बढ़ाए ?

क्या आप भी जानना चाहते हैं कि serp kya hai और serp का मतलब क्या है ? क्या आप भी जानना चाहते हैं कि serp कैसे काम करता है और अपने article को serp( यानी google ) में कैसे rank करें?

तो आप बिलकुल सही जगह पहुँचे हैं।

नमस्कार दोस्तों, Blogseva.com पर आपका स्वागत है और आज मैं आपको बताऊँगा कि serp kya hai और serp kaise kaam karta hai? इसके साथ हम जानेंगे कि अपने article को serp में कैसे rank करें।

हर blogger चाहता है की उसका article google SERP में पहले स्थान पर rank करें जिससे उसकी website पर ज़्यादा लोग आए और वह ज्यादा पैसे कमा सके | लेकिन किसी भी article को पहले स्थान पर rank करना कोई आसान काम नहीं है |

अगर आपको जानना है की ONpage और OFFpage SEO क्या होता है और कैसे इनकी मदद से आप अपनी websites को google में rank कर सकते है , तो आपको यह posts ज़रूर पढ़ने चाहिए |

Also Read :- How to do On Page SEO in hindi in 2020 ?( On Page SEO क्या है ?

Serp के बारे में पूरी जानकारी लेने के लिए इस article को अंत तक पढ़ें और comment section में मुझे अपने विचार ज़रूर बताएँ। इस लेख में आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

तो चलिए शुरू करते हैं।


Serp क्या है? Serp kya hai? 

Fullform of SERP in hindi

serp kya hai

Serp की full form होती है Search Engine Result Pages | जब भी आप google पर कुछ भी search करेंगे तब आपको जो भी results दिखते है , वह SERP होता है |

Serp webpages, websites, videos आदि की एक बड़ी list होती है जो search engine पर कुछ भी search करने पर सबसे पहले show होती है। यह ऐसा दिखता है। इन्हें search results भी कहा जाता है।  

Search Engine के example हैं- Google, Yahoo, Bing, DuckDuckGo आदि ।

जब हम इनमें से किसी भी search engine पर कोई शब्द, प्रश्न या product का नाम लिखते हैं, तो हमें बहुत से search results show होते हैं। उस शब्द या प्रश्न को हम keyword कहते हैं।उस keyword से सम्बंधित जितने भी articles होते हैं, वो सभी हमें दिखते हैं।

ज़्यादातर लोग serp के पहले page तक ही जाते हैं। अगला page आप यहाँ से देख सकते हैं पर अगले page पर ज़्यादा लोग नहीं जाते।

पहले page पर भी 30-40% लोग सिर्फ पहले article को ही पढ़ते हैं। इसलिए हर blogger अपने article को पहले page के पहले स्थान पर rank करना चाहता है।जिससे बहुत सारे लोग यानी बहुत सारा traffic उसके article तक पहुँच सके और वह पैसे कमा सके।

AlsoRead :- Blog से पैसे कैसे कमाएँ| Blog se paise kaise kamaye in hindi | ब्लॉग से कमाई कैसे करें ?


Serp कैसे काम करता है? Serp kaise kaam karta hai?

हर blogger का सपना होता है कि वह serp के पहले page पर अपने article को rank करवा सके जिससे उसकी income generate हो सके।बहुत से लोग अपने article को पहले page पर लाना चाहते हैं इसलिए competition बहुत बढ़ जाता है।

Serp के पहले स्थान पर rank करना मुश्किल ज़रूर है पर असंभव नहीं।इसके लिए ज़रूरत है बस एक सही keyword, अच्छी seo तकनीक और quality article की।Serp में आपको जो results show होते हैं, वह तीन तरह के होते हैं-

Paid

यह result सबसे ऊपर show होते हैं। इन websites या articles को Google Ads में पैसे देकर ऊपर लाया जाता है। 

इनको पहचानना बहुत आसान है, इनके साथ आपको Ad का चिन्ह दिखेगा जिसका मतलब है कि यह paid result है।

इनको ज़्यादातर professional bloggers इस्तेमाल करते हैं। और ज़ाहिर सी बात है, अगर वो पैसे खर्च कर रहे हैं तो उनको पैसे मिल भी रहे होंगे। इसलिए वो ऐसे keywords पर अपनी ads लगाते हैं जहाँ लोग ज़्यादातर पैसे खर्च करते हैं। जैसे “best shoes to buy in 2020” ताकि उनकी website के ज़रिए कोई सामान खरीद सके।

Paid results का यह भी फायदा है कि इसे high competition वाले keywords के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिन पर rank करने में सालों लग जाते हैं, इससे आप एक ही रात में सबसे ऊपर पहुँच सकते हैं और ज़्यादा traffic लाकर जल्दी पैसे कमा सकते हैं।

इनका नुकसान यह है कि इनको लगाने में बहुत पैसे लगते हैं और यह महंगे होते हैं।

Organic 

Organic results वह होते हैं जो proper seo के ज़रिए खुद rank होते हैं। यह search engine की algorithm के अनुसार दिखते हैं।

इन्हें rank करने में बहुत मेहनत, समय और सहनशीलता लगती है लेकिन फिर उसका फल भी उतना ही मीठा होता है | एक research के अनुसार ज़्यादातर लोग organicresults पर जाना पसंद करते है |

इसका मतलब यह है की अगर आप भी अपनी website को organically google के firstpage पर rank कर लेते है , तो आप बहुत सारे पैसे कमा सकते है |

Paid results के अलावा बाकी results organic और snippets के माध्यम से आते हैं।

Rich snippet

Rich Snippet में organic results भी होते हैं और paid results भी पर normal result से थोड़े अलग दिखते हैं।

Google हमेशा अपने users को best experience प्रदान करता है। इसलिए उन्होंने rich snippet शुरू किया जिससे लोगों को उनका उत्तर जल्द से जल्द मिल जाये और उन्हें किसी site को खोलकर timewaste न करना पड़े।

इससे आम लोगों को फायदा ज़रूर मिलता है पर bloggers के लिए यह बुरा है क्योंकि लोग किसी site को खोलते ही नहीं और traffic बहुत घट जाता है। 

बल्कि जिस article का snippet होता है, उसको भी views नहीं मिलते।पर अगर चालाकी से थोड़ी जानकारी भरी जाए तो पूरा article पढ़ने के लिए लोगों को ज़रूर आपकी site पर आना पड़ेगा।

Rich snippets के प्रकार-

  • Rating
  • Review and map
    यह product का review और साथ में एक map दिखाता है जिस दुकान से उसे खरीद सकते हैं।
  • Videos
  • Image
  • Article :-
    यह snippet अक्सर देखने को मिलता है जिसमें लोगों के प्रश्न का उत्तर directly उन्हें मिल जाता है।
  • News Box
  • Tweets
  • Q&A Snippet

Q&A snippet best तरीका है किसी भी चीज़ के बारे में जानकारी लेने का। यह उस चीज़ के बारे में हर तरह के सवाल और उनके उत्तर दिखाता है जिससे पूर्ण सन्तुष्टि मिलती है।  

  • Sponsored
  • Shopping Product

Rich snippet बनाने की तीन तरीके हैं- 

  1. Schema.org 

इसके ज़रिये आप बहुत आसानी से snippet बना सकते हैं, ज़्यादातर लोग इसी का इस्तेमाल करते हैं। 

  1. Coding

इससे वही लोग बनाएँ जिन्हें coding की जानकारी हो।

  1. Plugins

ऐसे बहुत से wordpress plugins हैं जिन्हें इस्तेमाल कर आप snippet बना सकते हैं।अभी तक आपने सीखा है कि serp kya hai और यह kaise kaam karta hai। अब मैं आपको बताऊँगा की serp में अपने article को rank कैसे करें।


Serp में rank कैसे करें? Serp me rank kaise kare?

अपने article को serp में rank करवाने से पहले आपको अपने blog को एक बार google search console में verify करना होगा। 

Verify करने के बाद, अब आपका blog तैयार है, आपके blog के articles अब google पर rank हो सकते हैं। Google के bots आपके article को crawl करने के लिए तैयार हैं। इसके बाद आपका blog, google sandbox में आ जाता है।

Google sandbox

अगर आपके articles कभी rank करते हैं और कभी दिखाई भी नहीं देते, इसका मतलब आपका blog google sandbox में है।

 इसमें google आपके blog को check करता है कि वह सच में काबिल है कि नहीं, क्या आप सच में लोगों को जानकारी देना चाहते हैं या नहीं। ऐसे समय में भी अगर आप मेहनत से quality article लिखते रहते हैं, तो finally आपका article rank होना शुरू हो जाता है।

Also Read :- Google sandbox kya hai?|What is Google Sandbox in Hindi?

अपने articles को serp में rank करवाने के लिए आपको इन चीजों का खास ध्यान रखना पड़ता है-

Images

आप जो भी pictures इस्तेमाल करते हैं वह light- weight होनी चाहिए ताकि article जल्दी load हो सके और साथ में high quality होनी चाहिए जिससे आपका blog एकदम professional लगे।

Images को light weight बनाने के लिए आप tinypng, compressjpeg, imageoptimizer आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Links

Links 3 तरह के होते हैं-

  1. Internal links

Internal linking का मतलब है अपने article में अपने ही blog के किसी दूसरे article का link देना।इसका यह फायदा है कि अगर एक article high rank करता है तो दूसरा article भी अच्छा rank करने लगता है।

  1. External links

अपने article में किसी और blog का link देना। 

हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि अपने article में किसी और का link क्यों दें, बल्कि हमें अपने reader को सारी जानकारी देनी चाहिए ताकि वह सन्तुष्ट हो सके।  

इससे दूसरे bloggers के साथ अच्छे संबंध भी बनते हैं और आप फिर backlinks exchange भी कर सकते है ।

  1. Backlinks

इसका मतलब किसी दूसरे के blog पर अपना link लगवाना। अच्छी websites से Backlink लेने का आपको बहुत फ़ायदा मिल सकता है | Google में rank करने के पीछे backlinks का बहुत बड़ा हाथ होता है |

Also Read :- Backlink kya hai aur kaise banaye?( बैकलिंक क्या है और कैसे बनाएँ?)

Title and Meta description

अपने article का अच्छा title और meta description देना बहुत ही ज़रूरी है क्यूंकि लोग article पढ़ने से पहले title पढ़ के सुनिश्चित करते है की वो यह article पढ़ेंगे या नहीं |

उसमें keywords को इस्तेमाल करें और ऐसे शब्द लिखें जिससे लोग आपके article की तरफ आकर्षित हों।

Robots.txt

Robots.txt के ज़रिए हम google के crawler bots को यह बता सकते हैं कि हमें अपने blog के कौनसे page को google में index करवाना है और कौनसा नहीं। 

आपको अपने blog के categories और tags को google में index नहीं करवाना चाहिए क्यूंकि इससे google को लगता है की आप same content को बार बार अपनी website में डाल रहे हो | आपको यह बात एक paid course से ही पता चल सकती थी , लेकिन मेने आपको यह बात free में बता दी |

इसी बात पर आपको हमारा यह article ज़रूर share करना चाहिए |

Site speed

आपकी site की speed भी बहुत महत्त्वपूर्ण है। आपके webpages जल्दी खुलने चाहिए जिससे bounce rate कम होता है और आपकी website पर traffic बढ़ता है।

Google में rank करने के पीछे आपके website की speed बहुत matter करती है | Blog की speed बढ़ाने के लिए आप google Amp का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही आपको cache plugins का इस्तेमाल करना चाहिए जैसे की :- WpRocket , W3 total cache, आदि |

Also Read :- जानिए Google Amp kya hai और Google Amp setup kaise kare ? Google Amp के फ़ायदे और नुकसान ?

Keywords

आपका article keywords और similar keywords से भरा हुआ होना चाहिए। इससे Google को संदेश पहुँचता है कि आपने किस विषय या topic पर article लिखा है और वह उसी keyword पर rank होता है। 

लेकिन आपको अपने article में keywords एकदम भरने नहीं चाहिए | इसे keyword stuffing कहते है | अगर आपको ऐसे tools चाहिए जो आपको hindi में keywords बताये , तो आपको यह article ज़रूर पढ़ना चाहिए |

Also Read :- 9+ Keyword research tools for Hindi Bloggers | हिंदी ब्लोग्गेर्स के लिए keyword research tools

निष्कर्ष(Conclusion)

मुझे उम्मीद है कि आपको इससे बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। आज मेने आपको बताया की SERP kya hai और SERP कैसे काम करता है |

अगर आपको यह article पसंद आया तो आप इसको अपने प्रियजनों के साथ जरूर share कीजिये।Serp में rank करना मुश्किल हो सकता है पर मेहनत हर चीज़ को मात दे सकती है। आप अपने article को जल्दी rank करने के लिए proper seo तकनीक का इस्तेमाल करें।

आपका experience कैसा रहा, उसे नीचे comment box में ज़रूर share करें तथा अगर आपको कुछ पूछना है तो आप मुझ से comment box में पूछ सकते हैं या email कर सकते हैं, में आपको जल्द से जल्द उत्तर देने की कोशिश करूँगा। 

धन्यवाद……..।

Leave a Comment