On Page SEO kya hai? On page seo kaise kare in 2021?

नमस्कार दोस्तों, blogseva.com पर आपका स्वागत है। आज मैं आपको बताऊँगा On page seo kya hai (What is On page Seo in hindi) और On page seo kaise kare।

Internet एक बहुत बड़ा marketplace है जो रोज़ बढ़ता जा रहा है। दुनिया में रोज़ करोड़ो sites publish होती हैं लेकिन इतनी भीड़ में एक छोटा सा blog खोना स्वाभाविक है।

तो फिर हम ऐसा क्या करें कि हमारी website पर भी traffic आना चालू हो जाए? इसका जवाब है On Page SEO in hindi

जब मैंने blogging शुरू की थी तो मुझे भी लगता था कि मेरा article कभी ऊपर नहीं आएगा। पर फिर भी मैं लिखता रहता था और 3 महीने बाद मेरा एक article first rank पर आ गया और उसपर 1 भी backlink नहीं था। सिर्फ On page seo techniques की मदद से मैं rank कर पाया।

First rank या first page पर rank होने में on page seo का बहुत बड़ा हाथ होता है। अगर search engine के पहले page पर rank न हो तो traffic की बड़ी समस्या हो जाती है।

तो चलिए जानते हैं On Page SEO in hindi कैसे करते हैं। On page SEO kya hai (What is on page seo in hindi), On page seo kaise kare।

SEO की full form क्या है?

SEO की full form है Search Engine Optimization। SEO वह techniques हैं जिन्हें website /blog पर implement करने पर Google में first page पर rank के chances बढ़ जाते हैं और जितना ज़्यादा rank आपके page का होगा उतना ही traffic आपके blog पर आएगा।

SEO चार  प्रकार का होता है

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Technical SEO
  • Local SEO

On Page SEO वह techniques हैं जिन्हें article में इस्तेमाल करते हैं। जैसे- Heading, title tag, internal linking आदि।

Off Page SEO वह techniques है जिन्हें blog/ website के बाहर इस्तेमाल करते हैं। जैसे- backlink, private forums, social bookmarking websites, guest post आदि।

Technical SEO में website की HTML coding, website की themes, SEO friendly interface पर ध्यान दिया जाता है।

Local SEO में आपके आस- पास की जगह के हिसाब से google results देता है। जैसे की पास की hotel, gym, school आदि।

अब On Page SEO in hindi techniques को detail में जानते हैं।


On Page SEO kya hai? On Page SEO in hindi

on page seo

On Page SEO का मतलब होता है अपने blog को पढ़ने वालों के लिए और Google के लिए अच्छा बनाना।

हम अपना article लिख सकते हैं, सुंदर और अच्छा बना सकते हैं पर उसे rank करने का काम Google का होता है। इसलिए हम अपने article को on page seo की मदद से अच्छा बनाते हैं।

इसकी वजह से traffic boost होता है, bounce rate कम होता है और लोग बार- बार आपकी site पर आते हैं

शुरू- शुरू में ध्यान से लिखना पड़ता है पर धीरे- धीरे आपका writing style खुद change हो जाता है।


On Page SEO kaise kare On Page SEO कैसे करें?

ज़्यादातर लोगो के पास On Page SEO की basic knowledge ही होती है। उन्हें सिर्फ keyword डालना, heading लिखना ही पता होता है लेकिन आज मैं आपको इस विषय पर पूरी जानकारी दूँगा। कि seo tutorial in hindi कैसे करते हैं।

On Page SEO में आप किस तरह का content लिख रहे हैं उससे बहुत फ़र्क पड़ता है कि आपका page rank होगा या नहीं। आपको अपने page की quality को improve करना होगा जिससे आपके website पर relevant traffic आए नहीं तो लोग आपकी website से वापस चले जायेंगे।

आजकल लोग interesting, engaging, relevant content, trending की तलाश में रहते हैं। अगर आप लोगों की ज़रुरत को पूरा कर सकते हैं और जो उनको चाहिए वह दे सकते हैं तो यह बहुत अच्छा है।

लोगो को इस तरह के content ज्यादा पसंद आते हैं-

  • Blogs
  • Infographics
  • Podcast
  • Ebooks
  • Interviews
  • Quizzes
  • Case studies

On Page SEO Techniques in Hindi

अब जानते हैं On Page SEO in Hindi techniques के बारे में। हम इन सभी tactics को अपने blog पर इस्तेमाल कर सकते हैं। इन practices का इस्तेमाल करने के बाद आपके blog की ranking ज़रूर बढ़ेगी। तो बिना किसी देरी के शुरू करते हैं-


Title

Title का इस्तेमाल हम webpage/ article का नाम देने के लिए करते हैं। जब भी Google में कुछ search करते हैं तो सबसे पहले sites के title दिखते हैं जिन्हें पढ़कर हम decide करते हैं कि इस site को खोलना है या नहीं।

इसलिए title descriptive होना चाहिए, यानी कोई भी आदमी उस website के topic में जान सके। जितना अच्छा Title, उतना ही लोग आपकी site पर click करेंगे। 

  • Title में Keyword ज़रूर डालें जिससे bots और लोगों को आपका topic पता लग सके।
  • Max. 60 words ही लिख सकते हैं। इसलिए समझदारी से उपयोग करें।
  • Title में emotions, power words, number, question, negative words का इस्तेमाल करें।

URL

URL का full form होता है Uniform Resource Locator। यह website का link होता है। इसे slug भी कहते हैं। आपका URL जितना छोटा होगा उतना अच्छा होगा। आप अपना url खुद change कर सकते हैं।

https://blogseva.com/blog-se-paise-kaise-kamaye/

https://blogseva.com/ae7uQXe53st71ahIueqIX201gh/

जैसे, इन दोनों में से कौनसा अच्छा है? ऊपर वाला क्योंकि हम उसको समझ सकते हैं। नीचे वाला बिल्कुल समझ नहीं आ रहा, और जब लोगों को कुछ complicated लगता है तो वह site leave करते हैं।

आप अपने URL को जितना optimize कर सकते हैं उतना अच्छा है। आप उसमें अपना main keyword ज़रूर include करें। अपने slug को content के हिसाब से relevant रखें


Keywords

यह On Page SEO का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण element है। आप जिस topic पर अपना article rank कराना चाहते हो उसके keywords research कीजिए कि लोग internet पर ढूँढ़ क्या रहे हैं।

अपने keywords को अच्छे से research करें और यह देखे, उनका search volume कितना है, cpc, keyword difficulty, trend आदि

जब आपको main keyword मिल जाए फिर आपको related keywords ढूँढने हैं। उसके बाद सारे keywords को सावधानी के साथ अपने article में डालना होगा ताकि वे सब natural लगें

आपको keywords ज़्यादा भी नहीं लिखने हैं जिससे keyword stuffing हो सकती है और आपका article rank नहीं हो पायेगा।


Meta Description

Blogging kaise kare

यह एक छोटी summary होती है कि आप अपनी site या blog में लोगों को क्या बताने वाले हैं। इसे बहुत सावधानी से लिखना होता है क्योंकि लोग इसे पढ़ने में अपना time waste नहीं करते पर एक क्षण में नज़र मारते हैं जिससे वह कुछ शब्दों को पढ़ते हैं और तभी आगे  बढ़ते हैं।

Site पर जाने से पहले लोग यही last चीज़ देखते हैं इसलिए हमें यह confirm करना है कि वह ज़रूर आएँ। कैसे?

  • Max. 160 शब्दों ही लिख सकते हैं।
  • इसमें सच्चाई से बताएँ कि article में क्या है।
  • कुछ points की heading दे दीजिये, ताकि लोगों को लगे कि यहाँ उनको अपना उत्तर ज़रूर मिलेगा।
  • Keyword का इस्तेमाल ज़रूर करें।
  • Call to action words का इस्तेमाल करें जैसे book now, get email, order product आदि।

Heading

Article का title और heading दोनों अलग होते हैं। Title आपको site के बाहर दिखता है, heading, site के अंदर। Title में keyword का इस्तेमाल करते हैं और उन words का जिससे लोगों को attract कर सकें

Heading में to the point लिखते हैं। सबसे पहली और सबसे बड़ी heading H1 size की होती है, फिर धीरे- धीरे H2, H3…H6 subheadings डलती हैं।

H1 को बस एक ही बार इस्तेमाल किया जाता है।

Headings आपके content से relevant होनी चाहिए और उसमें main keyword होना चाहिए क्योंकि लोग headings को पहले पढ़ते हैं, paragraph को बाद में।

आपको अपना content छोटे- छोटे paras में divide करना चाहिए जिससे लोगों को अच्छे से समझ आये।


Site Speed

आपकी पूरी site कितने समय में load होती है, यह Google ranking का बहुत बड़ा factor है। जितनी speed अच्छी होगी, उतनी ही ranking बढ़ेगी।

Time कम होने से > speed बढ़ेगी > bounce rate कम होगा > ranking बढ़ेगी > traffic ज़्यादा होगा > blog से success मिलेगा।

Bounce rate का मतलब है कि कितने users आपकी site पर आते ही back दबा देते हैं। Google के आकड़ो के मुताबिक आपकी site अगर 3 seconds में खुल जाती है तो speed बढ़िया है। आप अपनी website की speed check यहाँ check कर सकते हैं- gtmetrix.com

  • Site की speed बढ़ाने के लिए आप amp का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • Image size कम कर सकते हैं। Tools- tinypng, image compressor आदि।
  • Cache resolve कर सकते हैं। इसके लिए plugins हैं- w3 total cache, wp rocket आदि।

Keyword Density

इसका मतलब है कि आप अपने article में कितने keywords डालते हैं। अगर आप एक limit से ज़्यादा keywords अपने article में डालते हैं तो उसे keyword stuffing कहते हैं। इससे आपके blog की ranking घट सकती है

आपके focus keyword की density 1% से ज़्यादा नहीं होनी चाहिए। जैसे- अगर आप 1000 शब्दों का article लिखते हैं तो उसमें 10 से ज्यादा main keyword न आए।

और side keywords की density 0.5% रखनी चाहिए। मतलब 1000 शब्दों के लिए 5 बार।


LSI keywords

lsi keywords

LSI का fullform है Latent Semantic Index। इन्हें side keywords या related searches भी कहते हैं। 

यह वो keywords हैं जो लोग main keyword के इलावा Google पर search करते हैं। इनको use करके article natural लगता है और article multiple keywords पर rank हो जाता है। इन्हें

इन्हें ज़रूर इस्तेमाल करें।


Alt Text for Images

जब google हमारी website crawl करता है तब उसका algorithm सिर्फ text पढ़ सकता है। Google को यह बताने के लिए कि उस image में क्या है, Alternate text काम आता है।

इसलिए alt text का इस्तेमाल ज़रूर करें।

अपने article की सबसे पहली image के Alt text में हमेशा main keyword use करें। इससे On Page SEO पर अच्छा effect पड़ता है।

Alt text descriptive होना चाहिए। इसको लिखने के लिए Max. 125 words इस्तेमाल कर सकते हैं।


Internal Linking

यह On Page SEO technique in hindi बहुत important है।

Internal linking का मतलब है अपने article में अपने ही blog के किसी दूसरे article का link देना। इसका फायदा है-

  • अगर आपकी एक post अच्छी rank होती है तो दूसरी post की ranking भी बढ़ती है।

एक post rank होने से उसकी Page Authority बढ़ती है unranked post का link देने से link juice distribute होता है।

  • Blog का structure बनता है।
  • Users को navigation में मदद मिलती है।
  • Hard words पर link लगाकर आप users की clarity बढ़ा सकते हैं

User experience (Website theme)

आपको खास ध्यान रखना होगा कि आपकी website दिखने में attractive है या नहीं। आपका content आसानी से पढ़ने लायक है या नहीं।

  • हमें website की theme SEO friendly रखनी चाहिए।
  • Site fast होनी चाहिए।
  • Background और font color में contrast होना चाहिए।
  • Site desktop और mobile friendly होनी चाहिए।

Market में बहुत सी themes हैं लेकिन अच्छी SEO friendly & lite theme generatepress, astra, newspaper, divi को माना जाता है।


Image Resolution

Blog kaise banaye
  • हमें अपने blog के लिए खुद images design करनी चाहिए। इसके लिए canva, adobe spark, photoshop, illustrator आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अगर आप non- copyright images free में download करना चाहते हैं तो unsplash, pixabay, pexels आदि से कर सकते हैं।
  • उसके बाद आपको images का size छोटा करना है जिससे site की speed fast हो सके। इसके लिए आप tinypng, image compressor, resmush plugin आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Social Share Buttons

कई लोग जो आपका blog पढ़ते हैं, अगर उन्हें आपका content पसंद आता है तो फिर वह उसे अपने दोस्तों के साथ share करते हैं।

वह कई तरीकों से share कर सकते हैं जैसे whatsapp, facebook, email आदि। इसके लिए आप add to any plugin का इस्तेमाल कर सकते हैं।

साथ में आपको contact page भी बनाना चाहिए और उसमें setting भी change करनी चाहिए क्योंकि कई bloggers settings में अपनी email नहीं लिखते और उन तक कभी mail पहुँचती ही नहीं।


Word limit

बहुत से bloggers पूछते हैं कि उन्हें अपना article कितना लम्बा लिखना चाहिए। एक research के अनुसार लम्बे content ऊपर rank करते हैं। आपको अपना content 1500 से ज़्यादा शब्दों का लिखना चाहिए, min. 1000 शब्दों का लिखें। अपने article में बहुत सारी photos , graphics, videos आदि include करें।


On Page SEO ज़रूरी क्यों है?

Internet पर रोज़ करोड़ो blog लिखे जाते हैं। इसलिए rank करवाने का काम किसी इंसान का नहीं है, इसे मशीनें करती हैं, जिन्हें हम crawler machine/spider bots कहते हैं। इन मशीनों के पास एक article को पढ़ने की अनोखी तकनीक होती है जिससे वह seo को check करते हैं।

On Page SEO की मदद से हम अपने article को इस तरह लिख सकते हैं कि मशीन को पढ़ने में आसानी हो जैसे अच्छा title, keyword density, LSI keywords, website speed, attractive design आदि।

Google लोगों के ज़रिए पता लगाता है कि जिस website पर वह जा रहे हैं, वे वहाँ पर कितना समय बिताते हैं, ध्यान से पड़ते हैं या ऊपर नीचे करते रहते हैं। इन चीजों को देखकर Google आपकी site का जायज़ा लेता है कि वह पढ़ने लायक है कि नहीं।

इसलिए जब आप On Page SEO का इस्तेमाल करें तो इन चीज़ो का ध्यान दें।

  • User और Spider bot दोनों को clearly समझ आना चाहिए कि आपका topic क्या है।
  • आपकी website topic के relevent हो या search intent पूर्ण हो।
  • आपकी website useful और attractive लगनी चाहिए।

On Page SEO & Off Page SEO: important कौन है?

On page seo vs off page seo

कई लोगों को लगता है कि इन दोनों technique में से कोई एक implement करके वो अपने blog को rank कर सकते हैं। लेकिन असल में यह दोनों ही techniques बहुत ज्यादा ज़रूरी है। इनमें से कोई भी technique अकेली उतना काम नहीं कर पाएगी  जितना दोनों मिल के करेंगे।

यह कहना एकदम गलत होगा कि इनमें से कोई भी technique दूसरी से बेहतर है। On Page SEO और Off Page SEO दोनों साथ मिलकर article को rank करने का काम करती है और google को एक अच्छा संकेत भी भेजती है।


Conclusion

पहले Google पर rank करना काफी आसान होता था लेकिन अब हालात बदल गए हैं। Google ने अपना algorithm advance कर लिया है। वह अब artificial intelligence की मदद से blogs/ websites को rank करते हैं। इसलिए आपको भी अपनी On Page SEO in hindi techniques को improve करना पड़ेगा।

मुझे आशा है कि आप बहुत मेहनत करेंगे और इस post को पढ़ने के बाद आपको On Page SEO in hindi के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा। मैंने आपको बताया-

  • What is on Page SEO in hindi क्या है?
  • On Page SEO कैसे करें?
  • On Page SEO Techniques 
  • On Page SEO in hindi या Off Page SEO में important कौन है ?

मुझे लगता है इसे पढ़ने के बाद आपके सारे doubts clear हो गए होंगे। लेकिन अगर आपको अभी भी कोई doubt हे तो आप उसे comments में लिख सकते है। मै  आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश करूँगा।

यदि आपको मेरी यह post “On Page SEO in Hindi “पसंद आयी तो इसे अपने facebook या दूसरी social sites पर share ज़रूर करें।

अगर आपको जानना है की blog क्या होता है और blogging कैसे करते है तो यहां click kre

अगर आपको जानना है की free में blog कैसे बनाए तो यहां click kre

अगर आपको यह जानना है की blog किस विषय  पर बनाना चाहिए तो यहां click करें (70 blogging niche ideas)


FAQ ( Frequently Asked Questions)

Bounce rate क्या होता है?

जब भी कोई user आपकी website पर आते ही बिना रुके page बंद करदे या back चला जाए , उसे Bounce rate कहते हैं। हर कोई चाहता है कि उसकी website पर users ज्यादा से ज्यादा समय बिताए, जिससे google को अच्छा संकेत जाता है।

On Page SEO क्या होता है?

On Page SEO का मतलब होता है अपने blog को पढ़ने वालों के लिए और Google के लिए उपयुक्त बनाना। इन tactics को use करके आपको अपनी website को सही तरीके से optimize करना होगा। यह techniques अगर आप ढंग  से implement करेंगे तो आपको अपने traffic में boost नज़र आएगा।

LSI Keywords क्या हैं?

ये वो keywords होते हे जो users main keyword के अलावा search करते हैं। इन keywords को भी आपने अपने article के अंदर include करना होता है। यह main keywords से समानता रखने वाले similar keywords होते हैं। इनके इस्तेमाल से google तय करता हे कि users क्या देखना चाहते हैं।

1 thought on “On Page SEO kya hai? On page seo kaise kare in 2021?”

Leave a Comment