How to do On Page SEO in hindi in 2020 ?( On Page SEO क्या है ?

अगर आप On Page SEO in hindi सीखना चाहते है तो फिर इसके पहले आपको बेसिक SEO in hindi की knowledge होनी आवश्यक हे और साथ ही यह पता होना भी ज़रूरी हे की आखिर On Page SEO in hindi Techniques का इस्तेमाल क्यों किया जाता है |

इंटरनेट एक बहुत बड़ा marketplace है जो दिन-ब -दिन और बड़ा होता जा रहा है | दुनिया में रोज़ लाखों-करोड़ो websites और blog publish होते है लेकिन इतनी भीड़ में आपके blog का खोना या किसी को भी न मिलना स्वाभाविक है |

तो फिर हम ऐसा क्या करे की हमारी website पर भी traffic आना चालू हो जाये ? इसका जवाब हे On Page SEO in hindi . अगर आपको अपने blog की पहचान सबसे अलग बनानी है तो आपको google के first page पर rank करना होगा |Google पर रैंक करने से आपके blog /website पर ज्यादा लोग आने लगेंगे |

वही अगर search engine के पहले पेज पर रैंक न हो तो traffic की बड़ी समस्या हो जाती है | आपकी इसी समस्या को हल करने के लिए आज हम आपको बताएँगे की perfect On Page SEO in hindi कैसे करते है|On page SEO in hindi आपकी website पर traffic लाने का एक रामबाद इलाज़ है | इससे आप अपनी website को सही तरीक़े से rank करा सकते है और इंटरनेट पर visible भी बना सकते है |

पहले google पर rank करना काफी आसान होता था लेकिन अब के हालात कुछ और है | Google ने अपना algorithm काफी advance करलिया है | वो अब artificial intelligence की मदद से blogs / websites को rank करते है | तो फिर आपको भी अपनी On Page SEO in hindi की techniques को improve करना पड़ेगा क्यूंकि google अपना algorithm कई बार change करता है |

ऐसे कई लोग होते है जो केवल blog शुरू कर देते है लेकिन उन्हें SEO के बारे में दूर -दूर तक कोई knowledge नहीं होती हे और वो नहीं जानते की On Page SEO in hindi से वो कैसे अपने blog को rank कर सकते है |

SEO का full form है Search Engine Optimization . आसान भाषा में यह वो techniques हे जिन्हे आप अपनी website /blog पर implement करोगे तो Google में आपकी ranking first पेज पर होने के chances बढ़ जाते है | और जितनी ज़्यादा rank आपके पेज की होगी उतना ही traffic आपके blog पर आएगा |

SEO चार प्रकार का होता है |

  • On Page SEO
  • Off Page SEO
  • Technical SEO
  • Local SEO

On Page SEO in hindi वो Techniques है जिन्हे आप अपनी website या blog पर implement कर search engine में rank कर सकते है | जैसे की Heading ,title tag , internal linking आदि |

Off Page SEO वो techniques है जिन्हे आप अपने blog/ website के बाहर कर सकते है , मतलब की किसी दूसरी website से अपनी website को google में rank करा सकते है | इसमें backlink , private forums ,social bookmarking websites , guest post इत्यादि शामिल है |

Technical SEO में ज्यादातर website की HTML coding , website की themes , SEO friendly interface पर ध्यान दिया जाता है |

Local SEO में आपके आस -पास की जगह के हिसाब से google results देता है | जैसे की पास की hotel , gym , school ,इत्यादि |

तो फिर मै आज आपको seo kaise kare के ऊपर पूरी जानकारी दूंगा की आप कैसे इन On Page SEO in hindi techniques को अपने blog / website पर implement कर सकते है |

On Page SEO kya hai ?(On Page SEO in hindi )

On Page SEO का मतलब होता है अपने blog को पढ़ने वालों के लिए और Google के लिए उपयुक्त बनाना।इन tactics को use करके आपको अपनी website को सही तरीके से optimize करना होगा| यह techniques अगर आप ढंग  से implement करेंगे तो आपको अपने traffic में boost नज़र आएगा |

On Page SEO steps आपको खुद अपनी website पर करना होगा | जब आप अपनी website के लिए content लिखेंगे ,तब आपको इन seo tips in hindi का ध्यान रखना होगा | आपका blog रैंक होगा या नहीं निर्भर करता हे की आप इन techniques को सही से apply करते हो या नहीं क्यूंकि On Page SEO के हर component पर आपका control होता है |

हमारा एक ही लक्ष्य है, अपने article को सबसे ऊपर rank करवाना। हम अपना article लिख सकते हैं, सुंदर और अच्छा बना सकते हैं पर उसे rank करने का काम Google का होता है और google आपकी SEO देख कर आपका page rank करता है | इसलिए यह बहुत ज़रूरी होता है की आप अपनी website का SEO बहुत अच्छे से करें |

On Page SEO कैसे करे ?( On Page SEO kaise kare )

ज़्यादातर लोगो के पास On Page SEO की basic knowledge ही होती है | उन्हें सिर्फ keyword डालना , heading लिखना ही पता होता है लेकिन आज में आपको इस विषय पर पूरी जानकारी दूंगा की seo tutorial in hindi कैसे करते है |

On Page SEO में आप किस तरह का content लिख रहे है उससे बहुत फ़र्क पड़ता है की आपका page rank होगा या नहीं | आपको अपने content को इस तरह से optimize करना होगा की वो google की नज़रों में अच्छा लगे | आपको अपने page की quality को improve करना होगा जिससे आपके website पर relevant traffic आए नहीं तो वो आपकी website से वापस चले जायेंगे |

आजकल लोग interesting ,engaging ,relevant content की तलाश में रहते है | अगर आप उनकी ज़रुरत को पूरा कर सकते है तो इससे अच्छा कुछ भी नहीं | लोगो को इस तरह के content ज्यादा पसंद आते है :-

  • Blogs
  • Infographics
  • Podcast
  • Ebooks
  • Interviews
  • Quizzes
  • Case studies

On Page SEO Techniques in Hindi

चलिए अब जानते हे On Page SEO in Hindi techniques के बारे मे | हम इन सभी tactics को अपने blog पर इस्तेमाल कर सकते है | इन practices का इस्तेमाल करने के बाद आपके blog की ranking ज़रूर होगी | तो बिना देरी किये शुरू करते है :-

Title

Title का इस्तेमाल हम करते है webpage का नाम देने के लिए जो की Google search results में दिखता है | जब भी google में कुछ भी search करते है तो बहुत सारी websites आजाती है | उन सभी websites की heading जो नीले कलर में दिखती है वही webpage का HTML title होता है |

हर title descriptive होना चाहिए , यानी की कोई भी आदमी उस website के विषय में जान सके | Title से page के बारे में पता चलता है | जितना अच्छा Title आप लिखेंगे उतने लोग आपकी website पर click करेंगे | आपको अपने Title में Keyword ज़रूर डालना है जिससे Google आपकी website को दिखा सकें जब भी कोई उस विषय पर सर्च करता है |

आप इसे अधिकतर 60 शब्दों का लिख सकते है | आपको इन 60 शब्दों का ऐसा इस्तेमाल करना है की आपका title बहुत ही attractive लगे |

URL

URL का full form होता है UNIFORM RESOURCE LOCATER | ये website का link है | जो भी इसे click करेगा वो आपकी website पर आ जाएगा | इसका महत्व बढ़ जाता हे जब कोई google में कोई search query करता है | आपका URL जितना छोटा होगा उतना अच्छा होगा | आपके URL में जो slug होता है उसे आपके website के विषय में बताना होता है |

आप अपने URL के slug को जितना optimize कर सकते है उतना अच्छा | आप उसमे अपना main keyword ज़रूर include करें |अपने slug को कंटेंट के हिसाब से relevant रखें |

Keywords

यह On Page SEO का एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण element है | एक तरीके से ये आपके blog का कड़( atom ) है | आप जिस topic पर अपना article rank कराना चाहते हो उससे related keywords की research कीजिए की आखिर लोग internet पर ढूंढ क्या रहे है |

जैसे की :- अगर आप लिखते हे “How to make a blog in hindi ?” तो इसमें main keyword” blog in hindi” होगा जबकि side keyword “blog in hindi in 2020 ” होगा |

बहुत से लोग सिर्फ अपने हिसाब से article लिख के पोस्ट कर देते है बिना ये देखे की क्या लोग उस topic में दिलचिस्प भी हे या नहीं और फिर उनकी website पर कोई भी traffic नहीं आता | आपको अपने keywords को अच्छे से research करना होगा की उनपर कितने लोग search करते है , पढ़ते है ,आदि | आपको keywords को सावधानी के साथ अपने article में डालना होगा ताकि वो natural लगे न की जानभूझकर डाला गया लगे यानी की stuffed keyword न लगे |

Meta Description

यह एक छोटी summary होती हे की आप अपनी website या blog के ऊपर लोगों को क्या बताने वाले है | आपको इसे बहुत ही relevent , attractive लिखना होता है क्यूंकि लोग इसे पढ़कर ही आपकी website पर जाना हे या नहीं decide करते है |

यह description google search results में दिख जाती है | यह URL और title के नीचे दिखता है | आप इसे अधिकतम 160 शब्दों का ही लिख सकते है | आपको इन 160 शब्दों का ऐसा इस्तेमाल करना हे की user को आपकी website पर वो सब कुछ मिल जाये जो उसे चाहिए या जो भी वो ढूंढ रहा था |

Heading

अब आप link पर click करके website पर आगए है | यहां पर जो main title आपको दिखता हे वही पूरी webpage की Heading होती है | यानी की content के title को heading कहते है | On Page SEO के बेहतर परिणाम के लिए आपको heading हमेशा H1 tag में लिखनी होती है |

Headings आपके content से relevant होनी चाहिए और इसे optimize करने के लिए इसमें भी आपको अपना main keyword लिखना होगा | Headings interesting , attractive लगनी चाहिए क्यूंकि लोग पहले heading पढ़ते हे फिर content |

आपको अपना content छोटे छोटे टुकड़ों में divide करना होगा जिससे लोगो को ज्यादा अच्छे से समझ आए की आप क्या बताना चाहते है | अपने content में( H2 से H6) टैग्स का भी इस्तेमाल कीजिए | आप इन tags का इस्तेमाल subheadings में कर सकते है |

Site Speed

आपकी website कितने समय में पूरी तरह से load हो जाती हे उससे बहुत फर्क पड़ता हे की आखिर Google आपकी वेबसाइट को कहाँ rank करेगा | Google के नए algorithm इशारा करते हे की आपकी website की page load speed जितनी ज्यादा होगी उतनी ज्यादा आपकी rank high हो सकती हे |

अगर आपकी website की speed slow हे तो users आपकी website छोड़ के चले जाते है और आपके website का Bounce rate और ज्यादा बढ़ जाता है | Bounce rate का simple मतलब हे की कितने users आपकी website से बिना कोई भी page देखे चले जाते है | Bounce rate बढ़ने से आपकी website की rank गिर सकती है |

Google के ताज़े आकड़ो के मुताबिक आपकी website अगर 3 seconds के भीतर खुल जाती है तो speed बढ़िया है | अगर आपको अपनी website की speed check करनी है तो आप इस website पर जा सकते है :-gtmetrix.com

Keyword Density

इस term का मतलब हे की आप अपने पूरे content में कितने keywords डालते है | अगर आप कुछ तय सीमा से ज्यादा keywords अपने article में डालते हे तो वो keyword stuffing कहलाता है | इससे आपके blog की ranking घट सकती है |

आपको main keyword की density 1 % से ज्यादा नहीं रखनी है| मतलब की अगर आप 1000 शब्दों का article लिखते हे तो उसमे 10 से ज्यादा बार main keyword न आए |

अपने side keywords की density आपको ०.5 % रखना चाहिए | मतलब लगभग 5 बार आप side keywords या LSI keywords का इस्तेमाल कर सकते है |

LSI keywords

ये वो keywords होते हे जो users main keyword के अलावा google पर search करते है | इन keywords को भी आपने अपने article के अंदर include करना होता हे |यह main keywords से समानता रखने वाले similar keywords होते है | इनके इस्तेमाल से google तय करता हे की user क्या देखना चाहते है | यह keywords आपको google search में सबसे नीचे जाके मिल जाते है|

LSI का fullform है LATENT SEMANTIC INDEX |

Alt Text for Images

जब google हमारी website crawl करता हे तब उसका algorithm सिर्फ text पढ़ सकता है | इसलिए google को बताने के लिए की हमारी वेबसाइट पर images हे या नहीं, Alternate text काम में आता है | जब भी आप अपनी website पर कोई भी image लगाते है , उसमे alternate text ज़रूर दीजिए |

अपने blogpost के सबसे पहले image के Alt text में हमेशा main keyword डाला करें | इससे On Page SEO का google को बेहतर संकेत मिलता हे |

Alt text descriptive होना चाहिए और आप उसे keywords से optimize कर सकते है | इसको लिखने के लिए आपके पास 125 शब्द है |

Internal Linking

यह On Page SEO technique in hindi बहुत ही ज्यादा important है | इस strategy से आप अपनी website के दो webpage को जोड़ते हो link करके | मतलब की आप एक post पर दूसरी post का link देते है | ऐसा हमे इसलिए करना चाइये क्यूंकि इससे users आपकी website पर ज्यादा समय तक रहेंगे और आपकी सारी post पढ़ पाएँगे |

लेकिन सबसे ज्यादा ज़रूरी हे की इस technique से आपके हर पेज का Page level Authority बढ़ने के chances ज्यादा हो जाते है | इससे लोग आपकी ranked पोस्ट से unranked पोस्ट पर भी जा पाएँगे जिससे link juice distribute होगा |

तो आपको अपने हर page को अपने दुसरे page से link करके रखना चाहिए जिनका topic सामान हो | यह आपके users को website आसानी से navigate करने में और search engine में index होने में कारगर साबित होगा |

User experience (Website theme )

आपको यह ध्यान देना होगा की आपकी website दिखने में कैसी है , क्या यह attractive है ?| लोगो को आपकी website का design पसंद आया की नहीं | आपने जिस प्रकार अपना content लिखा हे क्या वो आसानी से पढ़ने लायक है ?

क्या आपने अपनी website की theme SEO friendly रखी है ? क्या आपकी website थोड़ी slow काम करती है? इन सभी चीज़ों कोआपको ध्यान में रखना होगा |

Website के लिए SEO friendly theme बहुत ज़रूरी है | इससे google को आपकी website रैंक करने के लिए एक positive signal मिलता हे | वैसे तो market में बहुत सी themes है लेकिन उसमे SEOfriendly & lite theme generatepress , astra को माना जाता है |

आपकी theme जितनी SEOfriendly और lite होगी उतना अच्छी आपकी ranking होगी |

Image Resolution

आपको अपने blog के लिए खुद images design करनी चाहिए | लेकिन ध्यान यह देना चाहिए की image का size कहीं बहुत बड़ा न हो जाए | इससे आपके website की page loading speed बढ़ जाएगी और आपकी ranking घटने के chances बढ़ जाएंगे | आपको अपनी image को ऐसे optimize करना हे की quality पर बहुत फर्क न पड़े लेकिन size भी काम हो जाए | इसके लिए आप बहुत से tools उसे कर सकते है | जैसे की :- tinypng .com या resmush plugin

Social Share Buttons

कई लोग जो आपका blog पढ़ते है , अगर उन्हें आपका content पसंद आता है तो फिर वो उसे अपने दोस्तों के साथ share करते है | वो share कई माध्यम से कर सकते हे जैसे की whatsapp ,facebook ,email आदि | इसके लिए आप add to any plugin का इस्तेमाल कर सकते है |

Word limit

बहुत से लोग यही पूछते है की उन्हें अपना article कितना लम्बा लिखना चाहिए | एक research के मुताबिक लम्बे content google के ऊपर ज्यादा rank करते है | आपको अपना content 1500 से 2000 शब्दों का लिखना चाहिए | अपने article में बहुत सारी photos , graphics ,videos include करें |

On Page SEO ज़रूरी क्यों है ?

इंटरनेट पर रोज़ करोड़ो blog लिखे जाते हैं। Google रोज लाखों websites को index करता है | यक़ीनन rank करवाने का काम किसी इंसान का नहीं होगा , इसे मशीनें करती हैं, जिन्हें हम crawler machine या spider bot (क्रॉलर मशीन) कहते हैं। इन मशीनों के पास एक article को पढ़ने की अनोखी तकनीक होती है।

Google की algorithm ये जाँचती हे की आपकी website कितनी user friendly है , interactive है , SEO friendly है , कोई technical faults तो नहीं है और quality में कैसी है |Google अपने users की गतिविधियों से पता लगाता है की जिस website पर वो जा रहा है , वो वहां पर कितना interact करता है इसलिए आपको अपनी website user friendly बनाने पर ज़ोर होगा |

On Page SEO की मदद से हम अपने article को इस तरह लिख सकते हैं कि मशीन को पढ़ने में आसानी हो जैसे अच्छा title, keyword density ,LSI keywords , website speed , attractive design , आदि |

इसलिए जब आप On Page SEO tutorial in hindi का इस्तेमाल करें तो इन चीज़ो का ध्यान दें |

  • User और Spider bot दोनों को clearly समझ आना चाहिए की आपकी website किस विषय पर है |
  • आपकी website उनके प्रॉब्लम के relevent हो या search intent पूर्ण हो |
  • उनको आपकी website useful और attractive लगनी चाहिए की वो दोबारा वापस आपकी website पर आये |

On Page SEO & Off Page SEO : important कौन है ?

कई लोगो को लगता है की इन दोनों technique में से कोई एक implement करके वो अपने blog को rank कर सकते है | लेकिन असल में यह दोनों ही techniques बहुत ज्यादा ज़रूरी है | इनमे से कोई भी technique अकेली उतना काम नहीं कर पाएगी जितना दोनों मिल के करेंगे |

यह कहना एकदम गलत होगा की इनमे से कोई भी technique दूसरी से बेहतर है | On Page SEO और Off Page SEO दोनों साथ मिलकर article को rank करने का काम करती है और google को एक अच्छा संकेत भी भेजती है |

On Page SEO checklist in hindi( सारांश )

मुझे आशा है की इस post को पढ़ने के बाद आपको On Page SEO in hindi के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा |मेने आपको ,

  • On Page SEO in hindi क्या है?
  • On Page SEO in hindi कैसे करे ?
  • On Page SEO in hindi Techniques
  • On Page SEO in hindi ज़रूरी क्यों है ?
  • On Page SEO in hindi या Off Page SEO में important कौन है ?

मुझे लगता हे इसे पढ़ने के बाद आपके सारे doubts clear हो गए होंगे | लेकिन अगर आपको अभी भी कोई doubt हे तो आप उसे comments में लिख सकते है | मै आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश करूँगा |

यदि आपको मेरी यह post “On Page SEO in Hindi “पसंद आयी तो इसे अपने facebook या दुसरे social sites पर शेयर ज़रूर करें |

अगर आपको जानना है की blog क्या होता है और blogging कैसे करते है तो यहां click kre |

अगर आपको जानना है की free में blog कैसे बनाए तो यहां click kre |

अगर आपको यह जानना है की blog किस विषय पर बनाना चाहिए तो यहां click kre (70 blogging niche ideas |

FAQ( Frequently Asked Questions)

Bounce rate क्या होता है ?

जब भी कोई user आपकी website पर आते ही बिना एक भी second रुके page बंद करदे या back चला जाए , उसे Bounce rate कहते है | हर कोई चाहता है की उसकी website पर users ज्यादा से ज्यादा समय बिताए , जिससे google को अच्छा संकेत जाता है |

On Page SEO क्या होता है ?

On Page SEO का मतलब होता है अपने blog को पढ़ने वालों के लिए और Google के लिए उपयुक्त बनाना।इन tactics को use करके आपको अपनी website को सही तरीके से optimize करना होगा| यह techniques अगर आप ढंग  से implement करेंगे तो आपको अपने traffic में boost नज़र आएगा |

LSI Keywords क्या हैं ?

ये वो keywords होते हे जो users main keyword के अलावा google पर search करते है | इन keywords को भी आपने अपने article के अंदर include करना होता हे |यह main keywords से समानता रखने वाले similar keywords होते है | इनके इस्तेमाल से google तय करता हे की user क्या देखना चाहते है |

Leave a Comment