Google sandbox kya hai[2021]? Blog को इससे कैसे बाहर निकालें?

यह article बहुत ही अनोखे विषय पर है- “Google Sandbox kya hai”। अगर आप एक blogger हैं तो आपको यह जानना बहुत ज़रूरी है।

सोचिये आपने अपना blog शुरू किया हुआ है, आप रोज बहुत मेहनत से अपने ब्लॉग पर content डालते हैं, उसकी proper seo करते हैं, digital marketing करते हैं। आपको लिखते लिखते अब 3-4 महीने तो हो चुके हैं।

एक दिन आप देखते हैं कि आपका एक article Google के पहले page पर rank हुआ है, आप यह देखकर खुश हो जाते हैं और आप अगले दिन फिर देखते हैं पर आपकी post पहले page से हट चुकी होती है। आप यह देख कर आश्चर्य चकित रह जाते हैं।

फिर कुछ दिनों तक आप अपने article को रोज़ देखते हैं, और वह रोज़ कभी ऊपर कभी नीचे चला जाता है। यह देखकर आपके मन में सवाल उठता है कि “क्या मेरी post में कुछ खराबी है?” या “क्या मेरा blog ban तो नहीं हो जाएगा?”। चिंता मत कीजिये दोस्त, आज हम इसी के ऊपर बात करने जा रहे हैं।

अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हुआ है तो समझ लीजिये आपका blog अभी google sandbox में है। अब आपके मन में यह सारे सवाल आ रहे होंगे-

  • Google sandbox क्या है?
  • क्या google sandbox मेरे blog के लिए हानिकारक है?
  • मेरा blog ,Google Sandbox में कितने time के लिए रहेगा ?
  • अपने blog को Google Sandbox se kaise nikale?

अगर आप इन सभी प्रश्नों के उत्तर ढूँढना चाहते हैं तो आप  इस article को अंत तक ज़रूर पढ़ें। यह विषय मेरे खुद के तजुर्बे से सम्बंधित है। तो चलिए article की तरफ बढ़ते हैं और जानते हैं कि google sandbox kya hai और Google Sandbox se blog ko kaise bahar nikale ?


Sandbox का मतलब क्या है?

पहले मैं आपको बताऊँगा कि sandbox का मतलब क्या है।

आपने कभी देखा होगा कि बच्चों को मिट्टी से खेलना बहुत पसंद होता है। वह मिट्टी का उपयोग करके अपने आप मिट्टी का घर और तरह- तरह की चीजें बनाते हैं। ऐसा आपने कई parks और school playground में देखा होगा की उनके लिए एक special जगह बनाई जाती है जहाँ सिर्फ मिट्टी होती है , उसे हम sandbox या sandpit कहते हैं। फिर जब बच्चा मिट्टी से खेलना बन्द कर देता है तो इसका मतलब वह बड़ा हो गया है, अब वह कुछ ज़िम्मेदारियाँ निभा सकता है और अब हम उस पर trust कर सकते हैं


Google sandbox kya hai ?

Google sandbox kya hai ?
Google sandbox kya hai?

एक शुरुआती नए blogger की भी एक बच्चे से तुलना की जाती है। वह अपने ब्लॉग को मेहनत से तैयार करता है। और जब google को लगता है कि बच्चा बड़ा हो गया है यानी blogger को अच्छे से काम करना आ गया है, तो Google को blogger पर trust हो जाता है और फिर उसका blog अच्छे से rank करने लगता है।

अगर हम इसकी परिभाषा की बात करें तो-

Google Sandbox एक  theory है जिसमें Google किसी भी blog या website को rank करने से पहले उसके साथ एक trust और relation build करता है ताकि वह पता लगा सके कि आप सच में blogging में serious हैं या नहीं। वह देखता है कि आप legit हैं कि नहीं। जब उसे पूरा विश्वास हो जाता है तब वह आपके article को पूरी तरह से rank करता है पर उससे पहले वह आपके blog को Google sandbox में रखता है।

Google sandbox को भी google की कई algorithms में से एक माना जाता है। इस algorithm के हिसाब से Google हर नयी website को Google Sandbox में रखता है क्योंकि google हर नयी website पर भरोसा नहीं कर सकता है और इसलिए आपकी website कुछ समय के Google Sandbox में रहती है। 

जब आपकी website, sandbox में होती है तब google यह check करता है की आप जो content लिख रहे हैं वो original और userfriendly है या नहीं। वे यह भी check करते हैं कि आप अपनी website से कोई गलत काम तो नहीं कर रहे हैं या फिर किसी Black Hat SEO के तहत अपनी website rank तो नहीं कर रहे हैं। और तो और वह यह भी देखता है की आप कहीं अपनी website से spamming करके दूसरी websites को नुकसान नहीं पहुँचा रहे हैं, तब तक वह आपकी website को Google Sandbox में रखता है।

पर Google ने आज तक कोई दावा नहीं किया कि वे “Google Sandbox” नाम की किसी algorithm का इस्तेमाल करते हैं। इसके कई प्रमाण ज़रूर मिले थे कि वह ऐसी किसी तकनीक का इस्तेमाल नए blogs को rank करने में ज़रूर करते हैं। इसलिए यह नाम SEO experts ने मिलके बनाया था जिनका कहना था कि अच्छा content और proper SEO करने के बाद भी new website rank नहीं होती है।


Google ने ऐसा क्यों किया?

Google का काम है अपने customers को पूरी जानकारी देना। अगर हम कुछ भी search करते हैं तो उसके बारे में अच्छी जानकारी देना। इसके लिए वह समय- समय पर नए updates और algorithms लाता रहता है जिससे वह अपने customers को खुश रख सके और उनके search intent मतलब उनके इरादों को पूरा कर सके।

GoogleSandbox” नाम की term 2004 में उतपन्न हुई जब बहुत सारे professional bloggers को लगा कि वह जितनी भी अच्छी SEO और blog promotion  कर लें तब भी उनका नया blog जल्दी rank नहीं हो रहा। उन्होंने देखा कि वह low competition keyword को भी rank नहीं करा पा रहे हैं। तब उन्होंने एक नई term का इज़ाद किया  “Google sandbox” ताकि वह नए bloggers की मदद कर सकें।


क्या मेरी website Google Sandbox में है ?

आप अपने blog और articles को खुद check कर सकते हैं कि आपकी website google sandbox में है या नहीं।

  • जब तक आपकी website GoogleSandbox में है तब तक आपकी कोई भी post rank नहीं करेगी क्योंकि Google को आपकी website पर भरोसा नहीं है।

Google किसी भी नयी website पर तभी भरोसा करता है जब content original हो और कोई spam न करती हो।

  • अगर आप एक new website पर quality content और proper SEO भी कर लें,  फिर भी उसके articles rank नहीं होंगे।
  • या फिर आपके articles अचानक से 1 -2 page पर rank होने लगेंगे , लेकिन फिरसे कुछ समय बाद पीछे चले जाएँगे।

अगर आपके साथ भी यह सब हुआ है , तो समझ जाएँ कि आपकी website Google Sandbox में है।

अब आपको पता चल गया है कि यह कैसे पता करें कि  आपकी website GoogleSandbox me hai ya nahi? अब हम आपको बताएँगे कि अपने blog को Google Sandbox में से बाहर निकालने के लिए क्या कर सकते हैं।


Google Sandbox से  कैसे बाहर निकलें?

google sandbox se kaise bahar nikle?

किसी भी ब्लॉग को 4-5 महीने से लेकर 8-9 महीने लग सकते हैं। वैसे तो इससे कोई डरने की बात नहीं है बल्कि हमें तो खुश होना चाहिए कि Google हमारी website या ब्लॉग को rank करने की कोशिश कर रहा है। पर अगर आपको लगता है कि ऐसा बहुत समय से हो रहा है और आप परेशान आ गए हैं, तो आपको ज़रूर कोशिश करनी चाहिए कि अपने ब्लॉग को इससे बाहर निकाला जाए।

ऐसा इसलिए, अगर बहुत समय से ऐसा हो रहा है इसका यह संदेश है कि आपकी मेहनत में अभी भी कहीं कमी रह ही है या फिर कोई setting भी खराब हो सकती है।


Google Sandbox से बाहर निकलने के तरीके

आप अपनी website को google sandbox में से  निकालने के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं पर आपको कोई भी पक्का नहीं बता सकता कि अगर आप इन सभी points पर अमल भी करें, तो आपको कितना time लगेगा।

आप नीचे दिए इन सभी तरीकों का इस्तेमाल करके अपनी नई website को Google Sandbox से जल्दी निकालने का प्रयास कर सकते हैं। 

  • High Quality content – शायद आपके blog पर अभी इतनी जानकारी नहीं है कि Google समझ पाए कि आपका topic क्या है। इसलिए उस पर ज्यादा से ज्यादा articles लिखे ,लेकिन quality content ही डालें।
  • Less dwell time – Dwell Time का मतलब होता है कि लोग आपके blog पर कितना समय बिता रहे हैं। हो सकता है कि शायद लोग आपके blog पर बहुत कम समय बिता रहे हैं। ऐसा तब होता है जब उन्हें अपने काम की जानकारी नहीं मिलती या आपका content बहुत ही low quality का होता है। 
  • High bounce rate – Bounce Rate का मतलब है कि कितने लोग आपके blog पर आते ही तुरंत वापस चले जाते हैं क्योंकि लोग blog खुलते ही back button दबा देते हैं। ऐसा तब होता है जब लोगों को blog सुंदर ना लगे या फिर blog देखते ही उनका mood खराब हो जाए।
  • Backlinks – आपको high authority website backlink लेना होगा क्योंकि google को पहले से high authority website पर भरोसा होता है। इसका फायदा यह है कि अगर आप अच्छे blog से backlink बनाते हैं तो आपका blog तेज़ी से rank होता है। कोशिश करें कि आप कम backlinks बनाएँ पर quality backlinks बनाएँ।
  • Competition – अगर आपके niche या keyword में बहुत competition है, इसका मतलब उसे बदलने की ज़रूरत है। आपको नए blog के लिए low competition keywords को target करना होता है जिससे आप अपने blog को जल्दी rank कर पाएँ।
  • SEO – Blog को rank करने  के लिए Seo बहुत ज़रूरी है। इसकी मदद से blog को आसानी से rank कराया जा सकता है। आपको अपने blog के लिए On Page SEO और Off Page SEO करना चाहिए जिससे वह google में rank कर सके।

अगर आप इन सभी points का ख्याल रख्खें तो शायद आप अपने blog को जल्दी rank करवा सकते हैं। अगर आपको On Page SEO के बारे में जानना है , तो आप यह post पढ़ सकते हैं।

How to do On Page SEO in hindi in 2020 ? On Page SEO क्या है ?

Extra tips-

  • Related blogs- अपने प्रतियोगी bloggers के बारे में लिखना, उनके ब्लॉग के बारे में लिखना आदी, अपने niche से मिलते जुलते blogs के बारे में लिखना, उनको बढ़ावा देना जिससे आप फिर उनसे Backlinks ले सकते हो।
  • Interview post हो सके तो एक बहुत बड़े blogger का interview लेना और उसको अपनी पहली post में डालना। फिर आप उस blogger से बोल सकते हो की वह आपकी post को अपने audience को share कर सकता है। इससे दोनों ,आपका और उस blogger का भी फायदा होगा।
  • Email marketing- अगर आपका कोई दोस्त email marketing करता है तो उसे कहना कि वह आपकी post share करे। लेकिन इसके लिए आपको पहले अपनी audience बनानी पड़ेगी।
  • Share- आपका article  जितना ज्यादा share होगा , Google को उतने ही ज़्यादा अच्छे संकेत जाएँगे कि आपकी वह post अच्छी है और वह उसे जल्दी rank करेगा।

AlsoRead : 2021 में apna blog kaise banaye step by step ?

AlsoRead : Whatsapp se paise kaise kamaye ?

AlsoRead : Affiliate Marketing Kaise Kare?

इसलिए मेरे दोस्तों, अगर आपकी new website google में rank नहीं कर पा रही है, तो चिंता मत कीजिए और मेहनत करते रहिए। इस phase से हर newblogger गुजरता है और इसमें कुछ भी अजीब नहीं है। थोड़े समय में (6 -8 महीने )आपकी website rank करने लगेगी अगर आपने उसमे अच्छा content लिखा होगा और बढ़िया SEO किया होगा।


Conclusion

मैं आशा करता हूँ कि आपको यह article पढ़ कर सब कुछ पता लग गया होगा की Google Sandbox kya hai in hindi  और Google Sandbox se website ko kaise nikale। अपने तज़ुर्बे से और जितनी जानकारी हमने लोगों से प्राप्त करी है उसके मुताबिक इससे डरने वाली कोई बात नहीं है, यह एक अच्छा चिन्ह ही है, कम से कम Google आपकी website पर ध्यान तो दे रहा है। आप उपर्युक्त points का इस्तेमाल कर सकते हैं अगर आप article को जल्दी rank करवाने में मदद करना चाहते हैं तो।

अगर आपको यह article पसंद आया तो आप इसे अपने प्रियजनों के साथ ज़रूर share करें, उन्हें भी इस उपाय के बारे में बताएँ। अपनी और साथ में उनकी भी मदद करें।  

आगे पढ़िए,  Blog से पैसे कैसे कमाएँ| Blog se paise kaise kamaye in hindi | ब्लॉग से कमाई कैसे करें ?

अगर आपका कोई प्रश्न है तो आप उसे नीचे comment box में पूछ सकते हैं या हमें email कर सकते हैं। आप अपना experience भी हमारे साथ share कर सकते हैं। आपको अगली post में मिलता हूँ।

धन्यवाद….।

Leave a Comment