Gmail kya hai और Gmail address kya hota hai?

नमस्कार दोस्तों, Blogseva.com पर आपका स्वागत है। आज मैं आपको बताऊँगा कि gmail kya hai, gmail address kya hota hai और gmail kaise banaye।

आज के समय में gmail बहुत ही ज़रूरी आवश्यकता बन गया है, यह एक इंसान की पहचान बन गया है बल्कि अब तो यह सरकारी दस्तावेजों में भी दर्ज़ होने लगा है। बच्चे से लेकर बड़ा, अब सबको इसकी जरूरत है और दुनिया में 1/4 लोगों के पास अपना gmail account है।

अब तो यह शिक्षा में भी काम आ रहा है क्योंकि lockdown के दौरान सारी पढ़ाई और homework, gmail के ज़रिए ही होता आ रहा है।

इसी के चलते, एक दिन मेरी नानी ने मुझसे पूछा कि यह gmail kya hai? खैर मैंने उनको तो जवाब दे दिया कि gmail kya hai पर मुझे लगा ऐसे बहुत से लोग होंगे जिन्हें नहीं पता होगा कि gmail kya hai, gmail address kya hota hai, gmail kaise banaye आदि। इसका कारण यह है कि हमारा देश तेज़ी से digital युग की ओर बढ़ रहा है और बहुत से लोगों को नई चीज़ें समझने में परेशानी आती है।

इसलिए आज मैं आपकी सारी परेशानी खत्म कर दूँगा और आपको इस लेख के द्वारा आपके प्रश्न का उत्तर दूँगा।

कृप्या “gmail kya hai?” जानने के लिए यह लेख अंत तक पढ़ें और comment box में अपने विचार ज़रूर प्रकट करें।


Gmail kya hai? Gmail क्या है?

Gmail kya hai?
Gmail kya hai?

Gmail kya hai?

Gmail(जीमेल) एक email सर्विस है जो Google कंपनी प्रदान करती है। इसके ज़रिये आप फ्री में किसी भी इंसान को एक electronic पत्र भेज सकते हैं जो चुटकियों में उस तक पहुँच जाएगा।

इसके लिए आप दोनों के पास gmail address होना ज़रूरी है।

Gmail के ज़रिए आप document, फ़ोटो, फ़ाइल, video आदि भी भेज सकते हैं और वह भी घर पर बैठे- बैठे। Gmail का सबसे बड़ा फायदा यही है कि इसने हमारा काम बहुत आसान और तेज़ कर दिया है।

Gmail एक पोस्ट ऑफिस की तरह है, आप उसे अपना संदेश देते हैं, एक online पता देते हैं और वह दूसरे इंसान तक संदेश पहुँचा देता है।

AlsoRead :- Blog kya hai?


Gmail address kya hota hai? Gmail address क्या होता है?

एक gmail account के पते को Gmail address बोलते हैं। यह सबको free में मिलता है और इसका अंत @gmail.com से होता है। इसे Gmail ID और username भी कहते हैं।

एक gmail account आपके घर की तरह है। 

जैसे आपके घर का एक पता है, वैसे ही gmail account का भी एक पता होता है। और वह पता सबके लिए अलग- अलग है जैसे मेरा gmail address है- blogseva@gmail.com और यह दुनिया में एक ही है।

अगर आप अपना gmail address किसी को देते हैं तो वह उसके द्वारा आपको email भेज सकता है।

Gmail address kya hota hai?
Gmail address kya hota hai?

संदेश भेजने का यह तरीका पहले से ज़्यादा तेज़, free और आरामदायक है। जिस काम में पहले 10-12 दिन लगते थे अब वह चुटकियों में हो जाता है।


Gmail kaise shuru hua? Gmail कैसे शुरू हुआ?

Google ने gmail को April 1, 2004 में शुरू किया और July 7,2009 में आम जनता के लिए launch कर दिया। उन दिनों email services के बीच एक तरह का मुकाबला चल रहा था कि कौन सबसे लोकप्रिय होगा।

इसी के चलते Gmail ने अपनी technology, स्पीड और storage पर ध्यान दिया और एक ही साल में yahoo और hotmail को पीछे छोड़ दिया।

अगले 5 साल में 100 करोड़ लोग gmail account बना चुके थे जिसमें 62% लोग भारतीय🇮🇳 हैं।

Gmail features

  • शुरुआती दिनों में gmail 1gb storage प्रदान करता था पर अब यह 15 gb storage प्रदान करता है। हम mail में जो भी file, photo या video attatch करते हैं, वह इस storage में save हो जाती है ताकि बाद में हम उसे ढूँढ सकें। 

आप 25 mb की ही file भेज सकते हैं और 50 mb की file ले सकते हैं।

  • Gmail 105 भाषाओं में उपलब्ध है, तभी यह दुनिया के हर कोने में पहुँच गया है।
  • इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है, आपको बस व्यक्ति का gmail address भरना है और संदेश लिखना है। आप एक बारी में एक से ज़्यादा लोगों को वह mail भेज सकते हैं।
  • यह पहले ही spam mails को अलग कर देता है। Spam mails अवांछित mails होती हैं जिनको कभी- कभी खोलने से आपके phone को खतरा हो सकता है।
  • 2014 में gmai ने फ़ोन app launch किया जिससे यह और लोकप्रिय हो गया और अभी तक करीब 190 करोड़ लोगों ने इसे download किया है।

AlsoRead :- Youtube से पैसे कैसे कमाएँ?

AlsoRead :- Best keyword research tools हिंदी bloggers के लिए।


Gmail kaise banaye? Gmail कैसे बनाएँ?

Gmail account बनाना बहुत ही आसान है। यह सिर्फ 5 मिनट का काम है। इसकी पूर्व आवश्यकताएं हैं एक phone/कंप्यूटर, इंटरनेट और phone नंबर। 

अगर आप नया Gmail account बनाते हैं तो आपका Google कंपनी में account खुल जाता है।

यह account सिर्फ mail भेजने के लिए ही नहीं बल्कि बहुत सी सेवाओं के लिए काम आएगा।

New Gmail account

एक नया Gmail account बनाने के लिए आपको “new gmail account” search करना पड़ेगा। 

  • वहाँ आपको देखेंगे “Create your Google account“, उस पर click करें।
  • आगे आपसे आपका नाम, username और password पूछा जाएगा। 

Username आप कुछ भी रख सकते हैं, यही आपका gmail address है। 

अगर “username taken” जैसा कुछ दिखता है इसका मतलब आपको कोई दूसरा username सोचना होगा।

Password ऐसा रखिये जिसको आप आसानी से भूल न सकें और उसको सिर्फ अपने तक ही रखें, किसी को न बताएँ

  • इसके बाद वह आपसे आपका phone नंबर मांगेंगे जिस पर एक code आएगा। वह code आपको भरना है फिर आपसे जन्मदिन और लिंग पूछा जाएगा।
  • और आपका Gmail account तैयार है
gmail kaise banaye?
Gmail kaise banaye?

AlsoRead :- SEO article कैसे लिखें?

Inbox

Gmail account बनने के बाद आपको सबसे पहले inbox दिखेगा। Inbox में आपकी सारी mails इकट्ठी होती हैं। लोगों से जो भी mails आएँगी, वह सब यहीं होंगी।

Compose

Compose का मतलब है, mail बनाना। आप दूसरों को उनके gmail address पर सन्देश पहुँचा सकते हैं, साथ में कोई file, फ़ोटो या video भी भेज सकते हैं। Send पर दबाते ही आपकी mail चली जायेगी।

Starred

अगर आपको कोई mail ज़रूरी लगती है तो आप उसके सामने बने star पर click कर सकते हैं जिससे वह पीला हो जाएगा। ऐसी ज़रूरी star वाली mails, starred में मिलती हैं।

Snoozed

Snooze ज़्यादातर लोग इस्तेमाल नहीं करते हैं। अगर आपके पास mail देखने का समय नहीं है तो इसके ज़रिये आप उस mail पर time set कर सकते हैं ताकि आपको बाद में एक message आए कि उस mail को देखना है।

Sent

Sent वह mails होती हैं जो आपने लोगों को भेजी हैं। अगर आपको देखना है कि आपने कितनी mails भेजी हैं या किसको कब भेजी हैं तो आप यहाँ देख सकते हैं, उसका पूरा रिकॉर्ड रहता है।

Drafts

अगर आप कोई mail लिख रहे थे और किसी कारण उसे पूरा लिख न सके, तो वह अधूरी mail, drafts में खुद ही आ जाती है। आप उसे फिर से लिख सकते हैं।

Hangouts

Mail के ज़रिए तो आप किसी को संदेश पहुँचा ही सकते हैं पर अगर आपका कोई दोस्त इसी समय gmail चला रहा हो तो आप उससे chat कर सकते हैं whatsapp की तरह।

Search

अगर आपको कोई भी mail ढूँढ़नी है तो आप उसे यहाँ ढूँढ सकते हैं। आपको उसकी कुछ भी जानकारी याद हो जैसे date, time, किसको भेजी, आदि बस उसे यहाँ लिख कर आप उसे ढूँढ सकते हैं।

Bin

जिन mails को आप delete कर देते हैं वो सब यहाँ होती हैं। 30 दिनों के बाद वे यहाँ से भी हमेशा के लिए गायब हो जाती है।

Google Meet

आजकल lockdown के कारण बच्चों की कक्षा online लगती है और स्कूल के अध्यापक फ़ोन के ज़रिए आमने-सामने पढ़ाते हैं। उसके लिए वह Google meet का इस्तेमाल करते हैं जो आपकी gmail से जुड़ा होता है। 

अगर आपके फ़ोन में gmail app तो आपको google meet रखने की ज़रूरत नहीं क्योंकि आप gmail के अंदर से ही video call कर सकते हैं।

AlsoRead :- Blog से अमीर कैसे बनें?


निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको समझ आ गया होगा कि gmail kya hai aur gmail address kya hota hai। साथ में मैंने आपको gmail के features और gmail kaise banaye भी सिखाया है।

अगर आपका कोई भी सवाल है, उसे आप बिना तनाव के हमसे पूछ सकते हैं, हमें उसका उत्तर देने में खुशी होगी। मैं आपकी भी प्रशंसा करता हूँ जो आप कुछ नया सीखने कि कोशिश कर रहे हैं। 

Gmail का निरन्तर इस्तेमाल करने से आपको यह आसान लगने लगेगा। अगर आपका कोई दोस्त या रिश्तेदार है जिसे gmail kya hai नहीं पता , उसे आप यह लेख भेज सकते हैं।

आपको क्या सीखने को मिला, अपना तजुर्बा भी आप नीचे comment box में ज़रूर लिखें और बताएँ आपको gmail kya hai समझ आया या नहीं।

अगली बार तक के लिए अलविदा।

धन्यवाद….।

Leave a Comment