Business karne ka tarika आसानी से

नमस्कार दोस्तों, blogseva पर आपका स्वागत है। आज मैं आपको बताऊंगा business karne ka tarika

आजकल हर चीज़ महंगी होती जा रही है। सरकार ने अब बहुत चीजों का ठेका private कंपनियों को दे दिया है। इसलिए आगे आने वाले समय का कुछ नहीं पता, क्या पता चीजें ज़्यादा महंगी हो जाएं।

साथ में India की अर्थव्यवस्था पर इस बार lockdown में बहुत ही बुरा असर पड़ा है। इन सबका एक ही समाधान है बिजनेस शुरू करना। अगर एक अच्छा सा business शुरू कर दिया जाए तो हमें ही नहीं बल्कि हमारी आने वाली कई पीढ़ियों को पैसे की चिंता नहीं करनी पड़ेगी।

तो चलिए आज जानते हैं कुछ बढ़िया business ideas और बिज़नेस शुरू करने का तरीका।

अगर आपको लेख पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ ज़रूर share करें। चलिए जानते हैं business karne ka tarika।


Business karne ka tarika

बिज़नेस शुरू करने से पहले बहुत सी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है। बहुत planning करनी पड़ती है और legal document तैयार करने पड़ते हैं। साथ में बिजनेस को ऊंचाई तक पहुंचाने के लिए मन में एक विश्वास भी होना जरूरी है। 

बीच-बीच में ऐसा कई बार लगता है कि हम सफल नहीं हो पाएंगे पर अगर मन में एक goal set करलें, तो बिजनेस जरूर सफल हो सकता है।

Weird business ideas

Business karne ka tarika बताने से पहले मैं आपको कुछ ऐसे बिज़नेस के बारे में बताऊँगा जिनको देखकर आप हसेंगे। पर इन लोगों ने नहीं सोचा कि कोई इनपर हँसेगा और आज यह करोड़ों के मालिक हैं। यह मैं इसलिए बता रहा हूँ ताकि आपको बिज़नेस शुरू करने के लिए थोड़ा confidence आ सके।

Pet rock

Business karne ka tarika

1975 में Gary Dahl ने Mexico Beach से पत्थर जमा करके उनको Pet Rock के नाम से बेचना शुरू किया और 1,971 करोड़ रुपये कमाए। कोई सोच भी नहीं सकता एक इंसान पत्थर को बेच सकता है।

Potato parcel

Potato parcel एक बिज़नेस है जो लोगों को आलू पर मैसेज लिखकर देता है।

The Beerbelly

एक ऐसी कंपनी जो लोगों को beer की बोतल अलग- अलग shape और size में बनाके देती है ताकि उसको छुपाके पिया जा सके। जैसे- cap, hairbrush, book, आदि।

Pool noodle

Pool noodle, foam-sponge से बनी एक rod होती है जिसे pool में खिलोने की तरह इस्तेमाल किया जाता है। इसका कोई काम नहीं है, यह बस तैरता रहता है, इसे किसी के ऊपर फेंका जा सकता है, या pool सजाया जा सकता है।

यह किसी को डूबने से भी नहीं बचा सकता।

Dirty rotten flowers 

हम सबको पता है नए- ताज़े फूल पार्टी और function में दिए जाते हैं और सबको अच्छे लगते हैं, पर यह कंपनी दुश्मनों के लिए सड़े फूल भेजती है।

जब लोगों ऐसी चीजों को बेच सकते हैं तो आप एक अच्छा simple product क्यों नहीं बेच पाएँगे?

इसलिए बिज़नेस करने का सबसे पहला rule है कि अपने ऊपर विश्वास रखें और कुछ अलग करने से न डरें।


Business ka tarika

1. Part time शुरू करें

अगर आप कोई job कर रहे हैं और आपके पास कमाने का कोई और साधन नहीं है तो, अपने part time में बिज़नेस try कीजिये। जितना आप कमाते हैं, उससे थोड़ा थोड़ा जमा करके अपने business को शुरू करने में लगाएँ।

जब आपको पूरा साहस आ जाये कि अब बिज़नेस खुद चल सकता है और जॉब छोड़ सकते हैं, तभी यह risk लीजिए


2. Business idea सोचें

सोचने में अपना समय अच्छे से लगाएं, आपको यह देखकर चलना होगा आजकल trend में क्या है, आने वाला future क्या है, लोग कैसे बदल रहे हैं। 

जैसे- 30 साल पहले TV पर cigarette की ad आती थी, उस समय लोगों को उत्साहित किया जाता था। पर अब इसे रोकने की ad आती है, इसका मतलब लोगों की आदतें अच्छी और healthy बनती जा रही हैं।

  1. ऐसा कुछ सोचें जो आपका personal interest हो, जिसको आपका करने का मन करता हो।
  1. जो existing product हैं मार्किट में, उनके बारे में research करें। फिर उनसे ज़्यादा अच्छा product बनाएँ। 

जैसे- 2007 तक Nokia दुनिया का no.1 phone था, पर 2007 के बाद smartphone launch हुआ, सारी कंपनियों ने nokia से ज़्यादा अच्छा product बनाना शुरू किया। और 2013 तक Nokia कंपनी खत्म हो गयी।

  1. Trend के साथ चलें

आगे electric का ज़माना है, लोगों को घर पर बैठे सारी चीजें deliver हो रही हैं, लोगों की आदतें अच्छाई की ओर बढ़ रही हैं, लोग स्वाद से ज़्यादा खाने और restaurant की look को देखते हैं क्योंकि selfie डालनी होती है, आजकल natural products ज़्यादा चलते हैं आदि।


3. Product बेचना शुरू करें

आगर आप बहुत पैसे नहीं लगा सकते या सिर्फ try करना चाहते हैं तो किसी दूसरे व्यक्ति की मशीन भाड़े पर ले लीजिए, या छोटे से कमरे से काम शुरू कीजिए।

एक demo product बनाएँ। लोगों को अपनी सेवाएं और चीजें try करवाएं और उनसे review ज़रूर लें। उनसे पूछें कि उनको क्या अच्छा लगा, क्या बुरा लगा, क्या ठीक किया जा सकता है।

अपने रिश्तेदारों या पड़ोसियों से न पूछें, बल्कि किसी भी random आदमी से पूछें। आजकल पड़ोसियों से पूछना तो बेकार है क्योंकि हमारी खुशी में कोई खुश नहीं होता, यह मेरा खुद का तजुर्बा है। 

मेरी तरफ से एक सुझाव यह भी है कि जब तक आपका काम नहीं बन जाता या बिज़नेस अच्छे से शुरू नहीं ही जाता, तब तक किसी को बताना नहीं चाहिए। 


4. Business name चुनें

Business का नाम एक बिज़नेस को पहचान देने में बहुत बड़ा योगदान देता है। इसे simple और short रखें और ऐसा रखें कि लोगों को याद रहे। 

हमारा इरादा यही है कि हमने कैसे भी customer के दिमाग में पहुंचना है, उनको हम याद रहने चाहिए। 

जैसे- बच्चे सीधा दुकान पर fevicol मांगते हैं। वह glue नहीं बोलते पर fevicol बोलते हैं। इसे कहते हैं brand recognition। 

Business name चुनने के कई तरीके हैं-

  • Short और simple– लोगों को छोटा नाम चाहिए जो जल्दी से याद हो जाये। अगर बड़ा नाम भी हो, तो उसका short form बना लेना चाहिए। और उसे बार- बार लोगों के सामने लाना चाहिए, ताकि वह दिमाग में छप जाए

Aggarwal Pharma Industry का बन गया “API”।

  • Different– सबसे अलग नाम रखें। अगर बहुत से लोगों का मिलता- जुलता नाम हो तो आप कुछ अलग और special रखें।

जैसे- हमारी मार्किट में एक ही line में बहुत सारी किराने की दुकानें हैं। किसी का नाम “सुहाष departmental स्टोर“, किसी का “गुलाटी general स्टोर, “अमर किराना स्टोर“। पर एक दुकान का नाम है “Need“। सबको उसको नाम रट गया है, घर से भी यही कहकर भेजते हैं, “Need पर जा”, और उस नई दुकान की बिक्री दिन दुगनी रात चौगनी बढ़ रही है।

  • Origin– कुछ नाम ऐसे होते हैं जो बिज़नेस के बारे में बताते हैं, उनकी story, उनका स्त्रोत बताते हैं। 

जैसे McDonalds, Ferrari, Benz उनके मालिक का नाम है, Tata के बारे में तो सबको पता है, Bikanervala, Youngs Digital- इससे पता लगता है कि young और energetic digital marketing कंपनी है, आदि।


5. Plan बनाएँ

अब आपको सारा plan बनाना है कि क्या कब करेंगे। कब product/ सेवाएं शुरू करेंगे, कब marketing करेंगे, कब legal registration करवाएंगे, कौनसा bank account खुलवाएंगे, क्या सामान लेना है आदि।

यह process बहुत ज़्यादा ज़रूरी है, इसमें समय- समय पर लिखते रहना चाहिए, जिन चीजों की ज़रूरत पड़ेगी सब एक diary में लिखना है। 

अगर सारी बातें हवा में ही रहती हैं तो दिमाग में tension रहती है। हर एक item को एक- एक करके tick करना है और काम पूरा करते जाना है।


6. Finance planning

Finance planning में हमेशा कोई न कोई गलती होती ही है क्योंकि बिज़नेस शुरू करने में धीरे- धीरे खर्चा बढ़ता चला जाता है। कई चीजों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे-

  • Rent
  • मशीन
  • बिजली
  • Labour
  • Raw material
  • Packaging
  • Marketing
  • Legal procedure
  • Transportation
  • Office 
  • Storage space
  • Quality assurance lab आदि।

अगर आप family बिज़नेस शुरू करते हैं तो इनमें से आधा खर्चा बचा सकते हैं जैसे labour, marketing खुद करो, transportation खुद करो, आदि।

कई लोग public funding से पैसा लेते हैं, कई लोग part time job करते हैं और कई partnership करते हैं, जिससे पैसे का खर्चा बंट जाता है।

Crowd funding/ Public funding video

और जितना हम खर्चा सोचते हैं हमेशा उससे ज़्यादा ही लगता है।

अगर आप के घर में ही कोई accountant हो तो financial planning बहुत आराम से हो सकती है। इतनी सी भी calculation इधर उधर होती है तो बाद में पैसों को इकट्ठा करना बड़ा बोझ बन जाता है।

आप bank से loan भी ले सकते हैं, आपको उसके लिए अलग से corporate bank account खुलवा लेना चाहिए।


7. Business location

अगर आप manufacturing करना चाहते हैं तो उस जगह पर करें जहां rent और बिजली का rate बहुत कम है। ऐसी जगह पर labour भी सस्ते में मिलती है।

यह ज़्यादतर industrial area में मिल जाती है। अगर आप ऐसा बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं जिसमें look ज़्यादा ज़रूरी है जैसे restaurant, hotel, store, दुकान आदि तो यह महंगी location पर खोलना चाहिए जहाँ लोगों का आना- जाना बहुत हो।

अगर आपके business में pollution निकलता है तो आप उसे residential area से दूर रखना चाहेंगे और उसके waste product को भी manage करना पड़ेगा क्योंकि जैसे मैंने बताया कि लोग अच्छाई की ओर बढ़ रहे हैं तो किसी भी factory का नाम social media पर बदनाम हो सकता है कि इससे बहुत pollution निकलता है इसलिए उसको manage करना ज़रूरी है।


8. License और document

अपनी कंपनी या बिज़नेस को शुरू करने के लिए बहुत से legal document तैयार करने पड़ते हैं। India में यह documents तैयार करने में 1-1.5 महीने का समय लग सकता है और यह बड़ा थकान भरा काम है, इसलिए बड़ी कंपनियां India में manufacturing नहीं करती।

यह legal documents हैं-

  1. Shareholder agreement 
  2. Founders agreement
  3. Certificate of incorporation
  4. No objection certificate (NOC)
  5. Company PAN card
  6. TIN number 
  7. Non-disclosure agreement (NDA)
  8. GSTIN
  9. Employee offer letter

इनके बारे में यहाँ पढ़ें


9. Marketing शुरू करें

अपने business को तेजी से बढ़ाने के लिए marketing ही एक जरिया है। Digital marketing से यह काम और भी ज़्यादा तेज़ी से हो सकता है क्योंकि social media पर चीजें तेज़ी से viral होती हैं। 

इंटरनेट पर मार्केटिंग करने से आप लोगों के सामने पहुंच सकते हैं क्योंकि आजकल सभी उम्र के लोग फ़ोन का इस्तेमाल करते हैं। 

Digital marketing के तरीके हैं-

  • Social media marketing- Social Media marketing मतलब social media apps पर अपने product के बारे में बताना जैसे facebook, instagram, twitter, youtube, quora आदि।
  • Ads- एक ad होती है tv पर, एक अखबार पर और एक google पर। आपने youtube video चलाने से पहले या instagram, facebook पर ads तो देखी होंगी। वह tv पर ad डालने से सस्ती होती हैं और उनको photo या video के रूप में बनाया जा सकता है। यह google ads के ज़रिए बनाई जा सकती हैं।
  • Google maps- किसी भी दुकान पर जाने के लिए या नई जगह को ढूंढने के लिए google maps का इस्तेमाल ज़रूर होता है। इसपर register करने के लिए आप google business app पर sign up कर सकते हैं।
  • Email marketing- Email marketing digital marketing का सबसे ज़बरदस्त तरीका है क्योंकि इसमें लोगों के phone में सीधा notification जाती है। आप जो कुछ भी लिखते हैं, अपने offers और discounts के बारे में emails के ज़रिए बता सकते हैं।

10. Manufacturing शुरू करें

अब आपने product का feedback ले लिया है, पैसे इकट्ठे कर लिए हैं, अब समय है कि अपने product की manufacturing या अपनी सेवाएं शुरू की जाएँ।

अपना product बनाते समय आपको उसकी cost को ध्यान में रखना है।

साथ में प्रोडक्ट launch करने से पहले आपको उसकी marketing के लिए logo बनाना होगा, poster बनाना होगा, product photography करनी होगी, उनकी packaging के लिए design print करवाना होगा।

साथ में labour और salesman को भी काम पर रखना होगा। यह सारी चीजें साथ- साथ ही होती हैं। 

और सबसे last काम है retailer और दुकानदारों से बात करना। यहीं पर आपकी business skills पता चलती हैं। अगर आप manufacturing करते हैं तो आपको दुकानों पर “माल” कैसे पहुंचाना, उनसे बात करके customers तक product को पहुंचाना, यह सब आपकी marketing skills रहेंगी।

अगर आप एक दुकानदार हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि लोग आपकी दुकान से खुश होकर जाएँ। अपनी दुकान पर decoration, lighting, air conditioning, उनका स्वागत करना, यह सब महत्वपूर्ण है, एक व्यक्ति को loyal customer में बदलने के लिए।


Motivational business story

थोड़े दिन पहले मैंने यह quora पर पढ़ा था कैसे एक आदमी ने Rs.0 से शुरू किया और अब वह करोड़पति बन गया।

उसके माँ बाप गुज़र गए थे, और वह गरीब परिवार से था, सिर्फ 15 साल का।

पहले उसने मज़दूरी शुरू करी। धीरे- धीरे पैसे जोड़े और एक रेडी लेली। रेडी पर सामान ढोने लगा, पैसे ज़्यादा मिलने लगे। फिर उसने एक पुराना पानी का tank खरीद लिया और उसे repair करवाया। फिर उसे शादी ब्याह में भेजने लगा और खुद अलग काम करता था।

Bijnesh shuru karne ka tarika

यहां शुरू हुई उसकी पहली passive income। Tank वाला idea ज़्यादा अच्छा था इसलिए थोड़े बहुत tank और ख़रीदलिये। ऐसा करते- करते वह 19 का हो गया। जिस उम्र में सारे बच्चे college के लिए education loan ले रहे होते हैं, उस समय वह दिन रात मेहनत करके कमा रहा था।

धीरे- धीरे वह catering के काम में जुड़ गया। पहले छोटे events और parties करता और फिर family functions और फिर शादी ब्याह आदि। तब वह 25 का होगया था।

और लाखों में कमाने लगा था। इसके बाद उसने बड़ी countries से metal का कबाड़ मंगवाना शुरू किया जैसे Germany, Italy, Ukraine आदि और उसे यहाँ महंगे में बेचने लगा क्योंकि उन countries में high quality metal इस्तेमाल होता है और वह यहां factory में raw material के काम आता है।

साथ में उसने concrete की ईंटों को बनाना शुरू किया, उसके लिए सिर्फ एक खुली जगह चाहिए और machine plant चाहिए। उसने अपने ही शहर में एक supermarket store भी खोल दिया।

उसकी income के अब बहुत सारे source हो चुके थे और वह करोड़ों में कमाने लगा। तब वह 35 का होगया था। कुछ साल पहले उसने bitcoin में भी invest किया जिसकी कीमत अब करोड़ों में है।

तो ऐसे वह आदमी करोड़ों का मालिक बना बिना किसी की मदद के, सिर्फ अपनी मेहनत से। उसने 0 से शुरू किया और किस मुकाम तक पहुंच गया। इसे कहते हैं true businessman। उसे bijnesh karne ka tarika पता था।

इससे मैं यही बताना चाहता हूँ कि कभी भी हार नहीं माननी चहिए। मेहनत और smartwork हमेशा फल लाता है


Conclusion

मुझे उम्मीद है कि आप को इस से बहुत कुछ सीखने को मिला होगा और समझ आ गया होगा business karne ka tarika के बारे में।

आपको यह article पसंद आया तो आप इसको अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिएगा। 

आज हमने सीखा-

  1. business karne ka tarika
  2. Bijnesh karne ka tarika
  3. Bijnesh ka tarika
  4. Business ka tarika
  5. Business karne ka tarika kam paise mein

आप का experience कैसा रहा आप उसे नीचे comment box में share कर सकते हैं और अगर आपको कोई doubt या problem है तो आप मुझसे नीचे comment box में पूछ सकते हैं या email कर सकते हैं।

मैं आपको जल्द से जल्द reply देने की कोशिश करूँगा। 

धन्यवाद……..।

business karne ka tarika और bijnesh karne ka tarika पढ़ने के लिए शुक्रिया।


FAQ (Frequently Asked Questions)

Leave a Comment